Monday, March 20, 2017

बामन की गिरफ्तारी

बामन का छोटा भाई भीमा और 14 साल की साली सुखमति बाज़ार से लौट रहे थे,
रास्ते में जंगल में पुलिस वाले आराम कर रहे थे,
पुलिस वालों ने सुखमती को पकड़ लिया,
सिपाहियों ने सुखमती के साथ सामूहिक बलात्कार किया,
इसके बाद सुखमति और भीमा को पकड़ कर थाने में लेकर आये,
अपना अपराध छिपाने के लिये सिपाहियों ने सुखमति और भीमा को गोली मार दी,
पुलिस ने मीडिया में बताया कि हमने वीरता पूर्वक दो नक्सलवादियों को मार गिराया है,
इसके बाद पुलिस ने भीमा के बड़े भाई बामन को बुला कर कहा कि सबको बताना कि तुम्हारा भाई और साली नक्सलवादी थे,
इसके बाद सोनी सोरी ने घटनास्थल का मुआयना किया और बामन से मुलाकात करी और मामले की शिकायत अदालत मे करने की सलाह दी,
बामन अदालत जाने के लिये घर से निकला,
रास्ते में पुलिस ने बामन को पकड़ा,
पुलिस वालों ने बामन को बुरी तरह पीटा,
पुलिस वालों ने चाकू से बामन के पाँव काटने की कोशिश भी की,
इसके बाद बामन को इसी रविवार को फर्जी नक्सली केस बना कर जेल मे डाल दिया,
बामन अभी दन्तेवाड़ा जेल में है,
हम अब बामन की ज़मानत की कोशिश करेंगे,

No comments:

Post a Comment